झंडू सितोपलादि चूर्ण लेने का सही तरीका
Zandu Products

झंडू सितोपलादि चूर्ण की जानकारी Zandu Sitopaladi Churn

 नमस्कार दोस्तों आज हम झंडू सितोपलादि चूर्ण के बारे में बात करने वाले हैं | यह झंडू फार्मा सिटी कल का बनाया हुआ आयुर्वेदिक पाउडर है जोकि चूर्ण के स्वरूप में आता है | आप इस पाउडर को पानी के साथ सेवन कर सकते हो | यह सितोपलादि चूर्ण को और खांसी जैसी समस्याओं से राहत दिलाने के लिए आपकी मदद करता है | 

झंडू सितोपलादि चूर्ण बनाते समय क्या इस्तेमाल किया गया है ?

 इस चूर्ण को बनाते समय 100% आयुर्वेदिक गुणों का इस्तेमाल किया गया है जैसे कि इसे बनाते समय इस मैं 

  •  पीपली (पेट के संबंधित रोगों को ठीक करने के लिए और पचन संस्था को मजबूत बनाने का काम करता है)
  •  एला (सांस लेने के संबंधित विकारों को ठीक करता है)
  • वामशलोचना (यह आपके शरीर में कफ को दूर करता है और आपकी त्वचा को तंदुरुस्त रखता है) 
  • दालचीनी (गले में होने वाले दर्द को इससे छुटकारा मिलता है)

 झंडू चूर्ण का इस्तेमाल करने के फायदे क्या है ?

झंडू सितोपलादि चूर्ण
झंडू सितोपलादि चूर्ण

 जैसे कि आपको हमने पहले ही बताया इस चूर्ण को बनाते समय 100% आयुर्वेदिक गुणों का इस्तेमाल किया गया है इसी वजह से इसका इस्तेमाल करने से आपको कई सारे फायदे मिलते हैं जैसे कि आप इसका इस्तेमाल करने से :

  • पेट के विकारों से इससे छुटकारा मिलता है |
  • सांस लेने की समस्या से इससे राहत मिलती |
  • खाना हजम ना होना यह समस्या कैसे दूर होती है |
  • शरीर में कफ होने से बचाता है |
  • गले में होने वाला दर्द से ठीक होता है |
  • सर्दी जुकाम को ठीक करने के लिए यह काम पड़ता है |
  • खांसी की समस्या इससे दूर होती है |

 जैसे कई प्रकार के इसका सेवन करने से आपको फायदे मिलते हैं | यह पूरी तरह से आयुर्वेदिक होने की वजह से इसका इस्तेमाल आप कभी भी कर सकते हैं |

 झंडू सितोपलादि चूर्ण लेने का सही तरीका :

झंडू सितोपलादि चूर्ण लेने का सही तरीका
झंडू सितोपलादि चूर्ण लेने का सही तरीका

 अलग-अलग उम्र के लोगों के लिए इस चूर्ण की मात्रा लेने का अलग-अलग प्रमाण है |

  •  18 साल के नीचे हैं तो आपको इस चूर्ण का सेवन 500 से 1000 मिलीग्राम ही करना है |
  •  18 साल के आगे के लोगों को इसका इस्तेमाल 2 से 4 ग्राम की मात्रा में करना है |
  •  प्रेगनेंसी के वक्त इस चूर्ण का इस्तेमाल 1 से 3 ग्राम की मात्रा में ही करना है इससे ज्यादा नहीं करना है |
  •  बुढ़ापे के समय इस चूर्ण को आप एक से 3 ग्राम की मात्रा में ले सकते हैं |

 दिन में ज्यादा से ज्यादा 12 ग्राम तक ही आपको इस पाउडर का सेवन करना है इससे ज्यादा होने पर आपको कोई दुष्परिणाम हो सकते हैं |  यह थी झंडू के चूर्ण के बारे मैं जानकारी | अभी आपको कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट में लिख कर पूछ सकते हैं |

जानिए –

झंडू जॉइंट थेरेपी किट की जानकारी 

One Reply to “झंडू सितोपलादि चूर्ण की जानकारी Zandu Sitopaladi Churn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *